आरबीआई के रेपो रेट घटाने से देश की आर्थिक दशा में सुधार के साथ कर्जों में बयाज दरें होगी कम
कफर्यू और लॉकडाउन में भी खेतीबाड़ी के कार्य प्रभावित नहीं होंगे, किसान समय पर काटेंगे अपनी फसल -डा. बिन्दल

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डा. राजीव बिन्दल ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रदेश भाजपा के वरिष्ठ पदाधिकारियों की एक बैठक की अध्यक्षता करते हुए कोरोना महामारी के कारण चल रहे कफर्यू और लॉक डाउन की स्थिति की समीक्षा की। डा. बिन्दल ने सभी पदाधिकारियों और कार्यकर्ता का कफर्यू और लॉकडाउन के बावजूद समाज सेवा के कार्य में तत्परता से भाग लेने के लिए आभार जताया। उन्होंने कहा कि वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिए संगठन के केन्द्र स्तर से लेकर, प्रदेश और जिला स्तर से लेकर मंडल स्तर तक प्रभावी ढंग से संपर्क और संपर्क स्थापित हुआ हैं

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए भाजपा पदाधिकारी बैठक आयोजित


भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डा. बिन्दल ने भारतीय रिर्जव बैंक द्वारा कोविड-19 महामारी के बढ़ते प्रभावों का मुकाबला करने के लिए बैकों की रिवर्स रेपो दर में 0.25 प्रतिशत कटौती करने, राज्यों को उनके खर्चों के लिए उधार सीमा बढ़ाने के साथ ही अर्थव्यवस्था में नकदी बढ़ाने के लिए किए गए कई महत्पूर्ण उपायों का स्वागत किया है। डा. बिन्दल ने कहा कि रेपो रेट कम होने से जहां देश के आर्थिक गतिविधियों को बल मिलेगा वहीं विभिन्न प्रकार के कर्जों की बयाज दरों में कटौती मिलने से उपभोक्ताओं विशेषकर, गृह निर्माण, ऑटो मोबाईल, फार्मा, कृषि-बागवानी आदि क्षेत्र को लाभ होगा। उन्होंने कहा कि आरबीआई से राहत पैकेज मिलने के बाद बैंकिग और वित्तीय शेयरों की खरीददारी में जबरदस्त बढौतरी देखने को मिली है जो कि देश के लिए शुभ संकेत है।
डा. बिन्दल ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण चल रहे कफर्यू और लॉक डाउन की वजह से खेती बाड़ी के कार्य किसी भी प्रकार से प्रभावित होने दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि जिन किसानों को अपनी फसलों की कटाई और बुआई करनी है अथवा खेती बाड़ी से जुड़े उपकरणों को यहां से वहां ले जाना है उनके लिए कफर्यू और लॉकडाउन में किसी भी प्रकार के प्रतिबन्ध और दिक्कतें नहीं है। उन्होंने कहा कि केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार और प्रदेश की जयराम ठाकुर सरकार ने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि किसानों की खेती-बाड़ी गतिविधियां किसी भी प्रकार से प्रभावित न हों, इस बात का विशेष तौ पर ध्यान रखने के लिए कहा गया है।
डा. बिन्दल ने कहा कि डिपुओं के माध्यम से ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में पीडीएस का राशन का आवंटन तीव्र गति से किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राशन आवंटन को और गति प्रदान करने के लिए डिपुओं में राशन आवंटन का समय प्रातः 10.30 बजे से दोपहर 3.30 किया गया है ताकि प्रति दिन अधिक से अधिक उपभोक्ता अपना राशन प्राप्त कर सकें। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने राशन कार्ड धारकों को अपना राशन। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार ने उपभोक्ताओं को कोरोना महामारी के दौरान किसी भी डिपो से राशन लेने की सुविधा प्रदान की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में बीपीएल परिवारों को दो माह का राशन और एपीएल को एक माह का राशन प्रदान किया जा रहा है।
डा. बिन्दल ने बताया कि प्रदेश में कोई भी व्यक्ति भोजन के अभाव में भूखा न सोए इसके लिए सरकारी स्तर के अलावा संगठन स्तर पर भी सेवा का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा प्रदेश में निर्धन और जरूरतमंद 8,97,499 लाभार्थियों को 2,55,285 फूड पैकेट, 70944 मोदी राशन किट बांटी जा चुकी हैं। अभी तक प्रदेश में 6,61,269 मास्क का वितरण किया गया है। डा. बिन्दल ने कहा कि कोरोना महामारी के दृष्टिगत भाजपा ग्रास रूट स्तर तक आर्थिक सहयोग के अभियान को बाखूबी चलाया है और अभी तक पीएम केयरस फंड में 1,20,52,679 रुपये तथा एचपी कोविड-19 फंड में 3,28,69,931 रुपये भिजवाए जा चुके हैं।
डा. बिन्दल ने भोजन व्यवस्था का स्वयं निरीक्षण किया व मजदूरों का कुशल क्षेम पूछा व सेवा करने वाली टीम को धन्यवाद दिया। उन्होंने गांवों में डिस्इनफैक्शन के काय का निरीक्षण किया व काम करने वालों को प्रोत्साहित करने के लिए स्वयं भी पम्प चलाया। उन्होंने दानदाताओं का आभार व्यक्त करने टोका साहब गुरूद्वारा जाकर राशन किटें देने के लिए धन्यवाद किया।